Skip to content
governors general viceroys of india

WhatsApp Channel

Telegram Group

PANDIT JI EDUCATION PDF STORE

प्रमुख गवर्नर जनरल तथा वायसराय

  • ईस्ट इण्डिया कम्पनी ने 1757 ई. से 1772 ई. तक बंगाल में 4 गवर्नरों की नियुक्ति की
  • बंगाल के पहले गवर्नर ‘रॉबर्ट क्लाइव’ थे। ये 1757 से 1760 तक तथा फिर 1765 से 1766 तक बंगाल का गवर्नर रहे 
  • 1765 ई. में अवध के नबाब शिजाउदौला एवं शाह आलम के साथ इलाहबाद की संधि की
  • मुगल बादशाह शाह आलम ने बंगाल, बिहार व उडीसा की दीवानी का अधिकार 1765 में कम्पनी को दिया
  • 1765 ई. में बंगाल में द्वैत शासन का प्रारम्भ किया
  • 1766 ई. में उसने घोषणा की कि दोहरी सत्ता उन सेना अधिकारियों को दी जायेगी जो बंगाल और बिहार सीमा क्षेत्र के बाहर सेवा दे रहे है
  • कम्पनी ने 1772 ई. तक क्लाइव, परिलर्स, कर्टियर और वांरेंग हेंगिस्टिंग की नियुक्ति गवर्नर के तौर पर की लेकिन इनमें क्लाइव और वारेंग हेग्स्टिंग ही प्रमुख थे
  • 1773 ई. के रेगुलेटिंग एक्ट के तहत बंगाल के गवर्नर को बंगाल का गवर्नर जनरल बना दिया गया तथा मद्रास और बॉम्बे के गवर्नरों को उसके अधीन कर दिया गया
  • 1774 ई. में वारेंग हेग्स्टिंग बंगाल का प्रथम गवर्नर जनरल बना
  • 1833 ई. में चार्टर एक्ट द्वारा बंगाल के गवर्नर जनरल को भारत का गवर्नर जनरल बनाया गया
  • भारत का प्रथम गवर्नर जनरल विलियम बैंटिक बना 
  • वर्ष 1857 के विद्रोह के बाद कंपनी के शासन को समाप्त कर दिया गया और भारत ब्रिटिश ताज के सीधे नियंत्रण में आ गया
  • अधिनियम 1858 के द्वारा गवर्नर जनरल का नाम बदलकर वायसराय कर दिया गया 
  • वायसराय को सीधे ब्रिटिश सरकार द्वारा नियुक्त किया गया था
  • भारत का प्रथम वायसराय लॉर्ड कैनिंग बना,यह पराधीन भारत का अंतिम गवर्नर जनरल था

 

गवर्नर-जनरल व वायसराय शासनकाल की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ
वारेन हेस्टिंग्स (1773-1785)
  • रेगुलेटिंग एक्ट-1773
  • वर्ष 1774 का रोहिला युद्ध
  • वर्ष 1775-82 तक प्रथम मराठा युद्ध और वर्ष 1782 में सालबाई की संधि
  • पिट्स इंडिया एक्ट-1784
लॉर्ड कार्नवालिस (1786-1793)
  • तीसरा मैसूर युद्ध (1790-92) और श्रीरंगपट्टम की संधि (1792)
  • कॉर्नवॉलिस कोड (1793)
  • बंगाल का स्थायी बंदोबस्त, 1793
लॉर्ड वेलेजली (1798-1805)
  • सहायक संधि प्रणाली का परिचय (1798)
  • चौथा मैसूर युद्ध (1799)
  • दूसरा मराठा युद्ध (1803-05)
लॉर्ड मिंटो I (1807-1813)
  • रणजीत सिंह के साथ अमृतसर की संधि (1809)
लॉर्ड हेस्टिंग्स (1813-1823)
  • एंग्लो-नेपाल युद्ध (1814-16) 
  • सुगौली की संधि(1816) नेपाल के साथ 
  • तीसरा मराठा युद्ध (1817-19) 
  • रैयतवाड़ी प्रणाली की स्थापना (1820)
लॉर्ड एमहर्स्ट (1823-1828)
  • पहला बर्मा युद्ध (1824-1826)
लॉर्ड विलियम बेंटिक (1828-1835)
  • सती प्रथा का उन्मूलन (1829)
  • ठगी का अन्त
  • बेंटिक ने उच्च पदों पर भारतीयों की नियुक्ति के सम्बन्ध में कॉर्नवालिस की नीति को बदल दिया। उसने 1831 ई. में एक अधिनियम पारित किया, जिसके अनुसार मुंसिफ, सदर अमीन आदि उच्च पदों पर भारतीयों की नियुक्ति की जाने लगी।
  • 1832 ई. में बेंटिक ने एक नया कानून बनाकर भारत में प्राचीन काल से प्रचलित दास प्रथा को समाप्त कर दिया। 
  • 1833 का चार्टर एक्ट
  • 1835 ई. में उसने प्रेस पर लगे प्रतिबन्ध को पूर्णतया समाप्त कर दिया
  • बेंटिक का सात वर्ष का शासनकाल भारतीय इतिहास में ‘सुधारों का काल’ के नाम से विख्यात है
लॉर्ड ऑकलैंड (1836-1842)
  • पहला अफगान युद्ध (1838-42)
लॉर्ड हार्डिंग I (1844-1848)
  • पहला आंग्ल-सिख युद्ध (1845-46) और लाहौर की संधि (1846)
लॉर्ड डलहौजी (1848-1856)
  • दूसरा आंग्ल-सिख युद्ध (1848-49)
  • व्यपगत के सिद्धांत का परिचय
  • वुड डिस्पैच (1854)
  • वर्ष 1853 में बॉम्बे और ठाणे को जोड़ने वाली पहली रेलवे लाइन बिछाई गई
  • लोक निर्माण विभाग (PWD) की स्थापना    
लॉर्ड कैनिंग (1856-1862)
  • वर्ष 1857 का विद्रोह
  • वर्ष 1857 में कलकत्ता, मद्रास और बॉम्बे में तीन विश्वविद्यालयों की स्थापना
  • ईस्ट इंडिया कंपनी का उन्मूलन और भारत सरकार अधिनियम, 1858 द्वारा ब्रिटिश क्राउन का प्रत्यक्ष नियंत्रण
  • 1861 का भारतीय परिषद अधिनियम
लॉर्ड जॉन लॉरेंस (1864-1869)
  • भूटान युद्ध (1865)
  • कलकत्ता, बॉम्बे और मद्रास में उच्च न्यायालयों की स्थापना (1865)
लॉर्ड लिटन (1876-1880)
  • वर्नाक्युलर प्रेस एक्ट (1878)
  • शस्त्र अधिनियम (1878)
  • दूसरा अफगान युद्ध (1878-80)
  • क्वीन विक्टोरिया ने ‘कैसर-ए-हिंद’ या भारत की साम्राज्ञी की उपाधि धारण की
लॉर्ड रिपन (1880-1884)
  • पहला कारखाना अधिनियम (1881)
  • वर्नाक्युलर प्रेस एक्ट का निरसन (1882)
  • हण्टर कमीशन (शिक्षा)(1882)
  • इलबर्ट बिल विवाद (1883-84)
लॉर्ड डफरिन (1884-1888)
  • तीसरा बर्मा युद्ध (1885-86)
  • भारतीय राष्ट्रीय काॅन्ग्रेस की स्थापना (1885)
लॉर्ड लैंसडाउन (1888-1894)
  • कारखाना अधिनियम (1891)
  • भारतीय परिषद अधिनियम (1892)
  • डूरंड आयोग की स्थापना (1893)
लॉर्ड कर्ज़न (1899-1905)
  • पुलिस आयोग की नियुक्ति (1902)
  • विश्वविद्यालय आयोग की नियुक्ति (1902)
  • बंगाल का विभाजन (1905)
लॉर्ड मिंटो II (1905-1910)
  • स्वदेशी आंदोलन (1905-1911)
  • सूरत अधिवेशन में काॅन्ग्रेस का विभाजन (1907)
  • मुस्लिम लीग की स्थापना (1906)
  • मॉर्ले-मिंटो सुधार (1909)
लॉर्ड हार्डिंग II (1910-1916)
  • बंगाल विभाजन रद्द करना (1911)
  • कलकत्ता से दिल्ली राजधानी स्थानांतरण (1911)
लॉर्ड चेम्सफोर्ड (1916-1921)
  • लखनऊ संधि (1916)
  • चंपारण सत्याग्रह (1917)
  • माॅन्टेग्यू की अगस्त घोषणा (1917)
  • भारत सरकार अधिनियम (1919)
  • रौलट एक्ट (1919)
  • जलियाँवाला बाग हत्याकांड (1919)
लॉर्ड रीडिंग (1921-1926)
  • चौरी-चौरा की घटना (1922)
  • असहयोग आंदोलन को वापस लेना (1922)
  • स्वराज पार्टी की स्थापना (1922)
  • काकोरी ट्रेन डकैती (1925)
लॉर्ड इरविन (1926-1931)
  • साइमन कमीशन का भारत आगमन (1927)
  • हरकोर्ट बटलर भारतीय राज्य आयोग (1927)
  • नेहरू रिपोर्ट (1928)
  • दीपावली घोषणा (1929)
  • काॅन्ग्रेस का लाहौर अधिवेशन (पूर्ण स्वराज संकल्प) 1929
  • दांडी मार्च और सविनय अवज्ञा आंदोलन (1930)
  • पहला गोलमेज सम्मेलन (1930)
  • गांधी-इरविन पैक्ट (1931)
लॉर्ड विलिंगडन (1931-1936)
  • सांप्रदायिक अधिनिर्णय (1932)
  • दूसरा और तीसरा गोलमेज सम्मेलन (1932)
  • पूना पैक्ट (1932)
  • भारत सरकार अधिनियम-1935
लॉर्ड लिनलिथगो (1936-1944)
  • द्वितीय विश्व युद्ध (1939) के शुरू होने के बाद काॅन्ग्रेस के मंत्रियों का इस्तीफा
  • त्रिपुरी संकट और फॉरवर्ड ब्लॉक का गठन (1939)
  • मुस्लिम लीग का लाहौर संकल्प (1940)
  • अगस्त प्रस्ताव (1940)
  • भारतीय राष्ट्रीय सेना का गठन (1941)
  • क्रिप्स मिशन (1942)
  • भारत छोड़ो आंदोलन (1942)
लॉर्ड वैवेल (1944-1947)
  • सी. राजगोपालाचारी का सीआर फॉर्मूला (1944)
  • वैवेल योजना और शिमला सम्मेलन (1942)
  • कैबिनेट मिशन (1946)
  • प्रत्यक्ष कार्यवाही दिवस (1946)
  • क्लीमेंट एटली  द्वारा भारत में ब्रिटिश शासन की समाप्ति की घोषणा (1947)
लॉर्ड माउंटबेटन (1947-1948)
  • थर्ड जून प्लान (1947)
  • रेडक्लिफ आयोग (1947)
  • भारत को स्वतंत्रता (15 अगस्त 1947)
  • अंतिम वायसराय एवं स्वतंत्र भारत के प्रथम गवर्नर-जनरल
चक्रवर्ती राजगोपालाचारी (1948-1950)
  • प्रथम भारतीय गवर्नर-जनरल एवं भारत के अंतिम गवर्नर-जनरल 
  • वर्ष 1950 में गवर्नर-जनरल पद स्थायी रूप से समाप्त कर दिया गया

 

भारत के प्रथम गवर्नर जनरल और वायसराय ट्रिक

राखी है विपिन की मौसी

Explanation:-

  • राखी → (राबर्ट क्लाइव) बंगाल का प्रथम गवर्नर
  • है → (हैंस्टिग) बंगाल का प्रथम गवर्नर जनरल
  • विपिन → (विलियम बैंटिक) भारत का पहला गवर्नर जनरल
  • की → (कैनिंग) भारत का पहला वायसराय
  • मौ → (माउंटबेटन) स्वतंत्र भारत का पहला गवर्नर जनरल
  • सी → (सी.राजगोपालाचारी) स्वतंत्र भारत का पहला भारतीय गवर्नर जनरल

 

 दोस्तों यद्यपि आर्टिकल governors general viceroys of india को बड़ी सावधानीपूर्वक Deep Research करके तैयार किया गया है फिर भी हम आपसे गुजारिश करते है की यदि आप को कही कुछ तथ्य या लेखन त्रुटि पूर्ण लगता है तो कृपया आप हमें सूचित करे,हम त्वरित कार्रवाही करते हुए त्रुटि को सही करेंगे

धन्यवाद

governors general viceroys of india pdf download

WhatsApp Channel

Telegram Group

PANDIT JI EDUCATION PDF STORE

 

यह भी पढ़े :-

 

सिंधु घाटी सभ्यता

 

 जैन धर्म

 

पाषाण काल

 

16 महाजनपद

 

Vedic Kaal

 

बौद्ध धर्म 

 

मौर्य साम्राज्य

 

please read website Disclaimer carefully

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Home » Blog » governors general viceroys of india | प्रमुख गवर्नर जनरल तथा वायसराय

governors general viceroys of india | प्रमुख गवर्नर जनरल तथा वायसराय

error: Please Share And Download From The Link Provided